Thought Of The Day :

Make today the day to learn something new.

Read More

News Detail

News Detail

Title : श्रमिक दिवस

श्रीकृष्ण की माने तो श्रम ही कर्म है ,

फिर स्वीकारने में कैसी शर्म है,

सारा जगत ही कर्म प्रधान है,

यही तो ईश्वर का एकमात्र विधान है।

हे ईश्वर! आपसे यही प्रार्थना है मेरी,

हम सब पर अपनी दया बनाए रखना।

किसी को किसी के सामने हाथ न फैलाने पड़ें ,

सभी को श्रमसाध्य बनाए रखना।

सभी को श्रमसाध्य बनाए रखना।

श्रमिक दिवस के उपलक्ष्य में श्रम के प्रति सम्मान और श्रद्धा समर्पित करने हेतु डी इंडियन पब्लिक स्कूल में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें नाटक, गायन, नृत्य, विचारों का आदान-प्रदान , प्रश्नोत्तरी आदि के जरिए छात्रों को कर्मशील व्यक्तियों के अमूल्य श्रम के महत्व को समझाया गया। तत्पश्चात माननीया निदेशक प्रधानाचार्या जी ने प्रेरणादायक शब्दों से जीवन के छोटे-छोटे पहलुओं के द्वारा सभी को श्रम की महत्ता को समझाकर प्रत्येक श्रमिक का सम्मान करने के लिए प्रोत्साहित किया।

सभी श्रम साधकों को समर्पित।

| Posted By : De Indian Public School | Date : 01 May 2022